Home > व्यापार > अलीबाबा क्या है ये देखे,एक दिन में 18 अरब डॉलर(117,000 करोड़ रुपए) का कारोबार

अलीबाबा क्या है ये देखे,एक दिन में 18 अरब डॉलर(117,000 करोड़ रुपए) का कारोबार

चीन की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने कहा है कि सिंगल्स डे पर आधे दिन में ही उसकी बिक्री 18 अरब डॉलर (117,000 करोड़ रुपए) के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई। इस साल की बिक्री पिछले साल के सिंगल्स डे पर हुई पूरे दिन की बिक्री से ज्यादा हो गई। इससे यह दुनिया का सबसे बड़ा शॉपिंग कार्यक्रम बन सकता है।कभी चीन में अकेले रहने वाले लोगों का उत्सव कहा जाने वाला सिंगल्स डे दुनिया में खरीदारी का सबसे बड़ा आयोजन बन गया है। इस बार सिंगल्स डे के मौके पर शुरू के दो मिनट में ही अलीबाबा ने एक अरब डॉलर (करीब 6,500 करोड़ रुपए) की बिक्री कर ली। पहला घंटा बीतते-बीतते अलीबाबा की बिक्री ने 10 अरब डॉलर (करीब 65 हजार करोड़ रुपए) का आंकड़ा छू लिया था।सिंगल्स डे का आयोजन हर साल 11 नवंबर को किया जाता है। 10 और 11 तारीख की रात 12 बजते ही 24 घंटे का यह उत्सव भी शुरू हो जाता है। पिछले कुछ साल में यह उत्सव तेजी खरीदारी का उत्सव बनता जा रहा है। शंघाई में शुक्रवार की रात भव्य आयोजन के साथ इसकी शुरुआत हुई।अलीबाबा ने भी सह संस्थापक और चेयरमैन जैक मा की अगुआई में शानदार आयोजन किया। आयोजन में हॉलीवुड अभिनेत्री निकोल किडमैन, गायक फैरेल विलियम्स और झांग जियी व फैन बिंगबिंग जैसे चीनी संगीतकार और फिल्मी सितारे मौजूद रहे।

अलीबाबा के सह संस्थापक और वाइस चेयरमैन जोसेफ साय ने कहा,’यह चीन और चीनी अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा उत्सव है। इस दिन खरीदारी करना खेल और मनोरंजन की तरह है।’ आधा दिन बीतते-बीतते अलीबाबा ने पिछले साल सिंगल्स डे के दिन हुई बिक्री के आंकड़े को पीछे छोड़ दिया था। पिछले साल इस दिन चीनी ई-कॉमर्स कंपनी ने 17.7 अरब डॉलर (करीब 1.16 लाख करोड़ रुपए) की बिक्री की थी।जानकारों का कहना है कि चीन की धीमी विकास दर के बीच अलीबाबा और जेडी डॉट कॉम जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए चुनौती बढ़ती जा रही है। मिंटेल के एशिया पैसिफिक रिसर्च डायरेक्टर मैथ्यू क्रेब ने कहा, ‘जो आसान था, उसे हासिल कर लिया गया है। अब चुनौतियां बढ़ रही हैं। नए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए ऑनलाइन कंपनियां ऑफलाइन प्लेटफॉर्म पर भी प्रयास कर रही हैं।’अलीबाबा ने भी इस बार के सिंगल्स डे आयोजन के लिए एक लाख दुकानों को अपने ‘स्मार्ट स्टोर’ का रूप दिया है। यहां लोग दुकान पर जाकर खरीदारी करते हैं, लेकिन उसका भुगतान अलीबाबा के प्लेटफॉर्म के जरिये होती है। नए ग्राहक बनाने के लिए कंपनियां लगातार इस तरह के प्रयास कर रही हैं।बहरहाल, यह सिंगल्स डे कंपनियों के लिए अच्छा रहा है। अंतिम आंकड़े एक दिन बाद सामने आएंगे, लेकिन जितना सामने आया है, उससे बिक्री में अच्छी खासी बढ़ोतरी का अनुमान लगाया जा सकता है।अलीबाबा के चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफीसर डेनियन जांग ने कहा है कि कंपनी की ग्लोबल रणनीति में भारत अत्यंत अहम बजार है। शनिवार को कंपनी के ग्लोबल शॉपिंग फेस्टिवल में उन्होंने कहा कि कंपनी के लिए ग्लोबलाइजेशन अहम रणनीति है और इसमें भारत सबसे ऊपर है।कंपनी का फोकस है कि स्थानीय स्तर पर बाजार का विकास हो। कंपनी रणनीति के तहत स्थानीय कारोबारियों को मदद करती है। भारतीय डिजिटल पेमेंट कंपनी पेटीएम में निवेश करके अलीबाबा अपनी उपस्थिति दर्ज करवा चुकी है। झांग ने कहा कि भारत में डिजिटल पेमेंट का तेज विकास उनके लिए खुशी की बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *