Thu. Apr 18th, 2019

स्मृति ईरानी की डिग्री पर गाने से कांग्रेस का तंज- ‘…क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थीं’

राहुल गांधी के खिलाफ उत्तर प्रदेश की अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ रहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अपने हलफनामे के बाद फिर से कांग्रेस के निशाने पर आ गईं हैं. कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने स्मृति ईरानी के हलफनामे में बताई गई एजुकेशन पर केंद्रीय मंत्री पर निशाना साधा है. इसके लिए बाकायदा प्रियंका ने गाना गाकर स्मृति पर निशाना साधा.

कांग्रेस पहले भी स्मृति ईरानी की डिग्री को लेकर उन्हें घेरती आई है लेकिन इस बार जब स्मृति ने खुद को 12वीं पास बताया है तो कांग्रेस और भी हमलावर हो गई है. पार्टी की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस पर तंज करते हुए स्मृति की टीवी सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ की थीम लाइन पर कहा, क्वालिफिकेशन के भी रूप बदलते हैं, नए-नए सांचे में ढलते हैं, एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते एफिडेविट नए हैं’. इसके लिए प्रियंका ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गाना गाकर स्मृति पर निशाना साधा.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि एक सीरियल आने वाला है जिसका नाम है, ‘क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थीं’, यह उसी की ओपनिंग लाइन होंगी. प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि स्मृतिजी ने अपनी एजुकेशन क्वालिफिकेशन को लेकर एक चीज कायम की है कि किस तरीके से ग्रेजुएट से 12वीं क्लास के हो जाते हैं, वो मोदी सरकार से और मोदी सरकार में ही मुमकिन है.

स्मृति का हलफनामा

केंद्रीय मंत्री और अमेठी लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने गुरुवार को चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में बताया कि उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी नहीं की है. अपने नामांकन के दौरान दिए हलफनामे में स्मृति ने कहा कि उन्होंने 1991 में सेकेंडरी स्कूल परीक्षा और 1993 में सीनियर सेंकेडरी स्कूल परीक्षा पास की.

स्मृति ने चुनाव आयोग को बताया कि उन्होंने 1994 में दिल्ली यूनिवर्स‍िटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग से तीन साल के डिग्री कोर्स में अपना बैचलर ऑफ कॉमर्स (पार्ट- I) पूरा नहीं किया है. केंद्रीय मंत्री ने इस साल 4.71 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति घोषित की है.

बता दें कि 2014 के चुनावों के लिए दिए अपने हलफनामे में उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि उन्होंने 1994 में यूनिवर्स‍िटी से ग्रेजुएशन किया था. उनके किए इस दावे की सत्यता पर विपक्षी दलों ने सवाल उठाते हुए उनके ग्रेजुएट न होने की बात कही थी.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *