Tue. Mar 26th, 2019

एनकाउंटर में लश्कर के 3 आतंकियों ढेर,सेना ने 10 महीने में जम्मू-कश्मीर में 190 आतंकियों को मार गिराया

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सिक्युरिटी फोर्स ने एनकाउंटर में लश्कर-ए-तैयबा के 3 आतंकियों को मार गिराया। तीनों आतंकी पाकिस्तान के रहने वाले हैं। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने ट्वीट कर इसे एक्सीलेंट वर्क बताया। बीते 10 महीने में जम्मू-कश्मीर में 190 आतंकियों को मार गिराया गया है। इनमें से 110 विदेशी टेररिस्ट और 80 लोकल टेररिस्ट थे। इस बीच, कुपवाड़ा के गुज्जरपट्टी जंगल में फोर्स ने घेराबंदी की हुई है। 2-3 आतंकियों के छिपे होने की आशंका है। शनिवार को बांदीपोरा के हाजिन एनकाउंटर के बाद रविवार को आर्मी की 15 कॉर्प्स के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (GOC) लेफ्टिनेंट बीएस संधू ने ये जानकारी दी थी।

हाजिन एनकाउंटर में लश्कर के 6 आतंकी मारे गए। इनमें मुंबई अटैक के मास्टर माइंड जकीउर रहमान लखवी का भतीजा ओवैद उर्फ उस्माना जंगी भी शामिल था। बीएस संधू ने कहा, “मारे गए 110 विदेशी आतंकियों में से 66 को घुसपैठ के दौरान लाइन ऑफ कंट्रोल के पास ढेर किया गया। खास बात ये है कि कश्मीर घाटी के भीतरी इलाके में इस साल हमने 125-130 आतंकी मारे हैं। इसकी वजह से हालात में काफी बदलाव देखने को मिले हैं।”

संधू ने बताया, “हमने हाजिन में मिड सितंबर में कुछ ऑपरेशन शुरू किए थे। इसके बाद से हमने यहां करीब-करीब रोजाना सर्च ऑपरेशन चलाए। हमने यहां स्पेशल फोर्सेस को तैनात किया। पुख्ता जानकारी मिलने के बाद शनिवार को सीआरपीएफ, आर्मी और पुलिस ने ऑपरेशन शुरू किया। इनमें 6 आतंकी मारे गए। ये सभी विदेशी थे। हमने इस ऑपरेशन में शामिल सभी एजेसियों की तारीफ की। लोकल आतंकियों को ये समझना होगा कि वे खुद को मुजाहिद कहते हैं, लेकिन क्या वे वाकई मुजाहिद हैं या फिर पाकिस्तान के लिए प्रॉक्सी वार लड़ रहे हैं।’

जम्मू-कश्मीर की डीजीपी एसपी वैद ने कहा, “कश्मीर घाटी को हिंसा, बंदूकों और ड्रग्स से मुक्त कराना होगा। एजेंसियों और जवानों ने मिलकर जो काम किया है, वो काबिल-ए-तारीफ है। हां, अभी इस बात की जांच की जानी है कि ISIS का कोई प्रभाव घाटी में है या नहीं। जहां तक मुझे लगता है कि घाटी में ISIS का प्रभाव नहीं है।”

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *