Home > राज्यों से > आंध्र प्रदेश में भाजपा को तगड़ा झटका, प्रदेश अध्यक्ष ने अमित शाह को भेजा इस्तीफा%!%!%!%!%!%!%!%!

आंध्र प्रदेश में भाजपा को तगड़ा झटका, प्रदेश अध्यक्ष ने अमित शाह को भेजा इस्तीफा%!%!%!%!%!%!%!%!

आंध्र प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को तगड़ा झटका लगा है। साल 2019 की तैयारियों में लगी भाजपा के के लिए राज्य से बुरी खबर है। वरिष्ठ भाजपा नेता और विशाखापटनम के एमपी के हरि बाबू ने राज्य इकाई अध्यक्ष पद से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को अपना इस्तीफा पत्र भेजा। बीजेपी के सूत्रों ने कहा कि तेलगू देसम पार्टी (तेदेपा) से अलगाव के मद्देनजर राज्य इकाई में परिवर्तन की मंशा थी। आंध्र प्रदेश में अपनी ताकत बनाने की कोशिश कर रही भाजपा ने राज्य के लिए एक नई रणनीति तैयार कर ली है।

ये नाम अध्यक्ष बनने की दौड़ में शामिल

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, एमएलसी सोमू वीरराजू, विधायक और पूर्व मंत्री पी मानिकला राव, यूपीए सरकार में पूर्व कांग्रेस नेता काना लक्ष्मीनारायण और पूर्व केंद्रीय मंत्री डी पुरंदारेश्वरी का नाम अध्यक्ष बनने की दौड़ में शामिल है। लक्ष्मीनारायण और पुरंदारेश्वरी दोनों ने कांग्रेस को छोड़ा और 2014 में राज्य के विभाजन के मुद्दे पर बीजेपी में शामिल हो गए।

इनके अध्यक्ष बनने की संभावना प्रबल

हालांकि, वीराराजू और राव – जो कापू समुदाय से हैं इनके अध्यक्ष बनने की संभावना ज्यादा है क्योंकि वे पार्टी के पुराने नेताा हैं। बीजेपी राज्य में अपने प्रमुख के रूप में कापू समुदाय के एक नेता की नियुक्ति के लिए उत्सुक है।

TDP के खिलाफ आक्रामक योजना

सूत्रों ने कहा कि हरि बाबू को केंद्र में एक महत्वपूर्ण पद दिया जा सकता है। टीडीपी के एनडीए गठबंधन से अलग होने के साथ, भाजपा ने उन नेताओं का उपयोग करने का निर्णय लिया है जो कांग्रेस से अलग हुए और 2014 में राज्य के विभाजन के बाद पार्टी में शामिल हो गए। माना जा रहा है कि भाजपा TDP के खिलाफ आक्रामक योजना बना रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *