जानिए क्‍यों खानी चाहिए रोज एक लहसुन की कली ? भुना हुआ गार्लिक क्‍यों होता है फायदेमंद ?

लहसुन का प्रयोग खाने में कई प्रकार से किया जाता है । तड़के के रूप में गार्लिक का प्रयोग दाल-सब्‍जी में होता है । लहसुन की चटनी बड़ी लाजवाब बनती है, लहसुन का अचार भी कमाल का स्‍वादिष्‍ट होता है । लेकिन क्‍या कभी आपने लहसुन कच्‍चा खाया है, खाया नहीं होगा तो सुना जरूर होगा कि रोज लहसुन की एक कली खाना फायदेमंद होता है । इसे खाने का एक और तरीका काफी बताया जाता है, वो है लहसुन को भूनकर खाना, जानिए लहसुन खाना क्‍यों इतना फायदेमंद है ।

 हैल्‍थ के लिए फायदेमंद
गार्लिक पर हुई एक रिसर्च बताती है कि ये  हैल्‍थ के लिए बहुत फायदेमंद है । लहुसन में कई प्रकार के फाइटोकैमिकल्‍स पाए जाते हैं जो  सेहत,  बॉडी पार्ट्स और मसल्‍स के लिए फायदेमंद होते हैं । लहसुन में एंटी-बैक्‍टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-ऑक्‍सीडेंट खूबियां पाई जाती है, इस वजह से लहसुन मानव शरीर के लिए बहुत ही फज्ञयदेमंद माना जाता है ।

हार्मोन लेवल बढ़ाता है
गार्लिक में ऐलीसिन नाम का तत्‍व पाया जाता है । ये पुरुषों के मेल हार्मोन के लेवल को बैलेंस में रखता है । इससे पुरुषों में इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन की प्रॉब्‍लम नहीं होती है । लहसुन में सेलेनियम और अन्‍य प्रकार के जरूरी विटामिन पाए जाते हैं जो पुरुषों के ऑर्गन के लिए फायदेमंद होते हैं । लहसुन खाने से पुरुषों की स्‍पर्म क्‍वालिटी इंप्रूव होती है और उनके जीन्‍स हैल्‍दी होते हैं ।

दांत का दर्द
यदि आपके दांतों में बहुत दर्द हो रहा है तो भुने हुए गार्लिक का सेवन आपको फौरन आराम पहुंचा सकता है । दांत में दर्द हो रहा हो तो लहसुन को भूनकर उसे मसलकर दांतों के ऊपर लगा दें । ऐसा करने से फैारन आराम मिलना शुरू हो जाएं । लहुसन में मौजूद एंटी बैक्‍टीरियल तत्‍व दांतों के दर्द को ठीक करते हैं । दांत में बहुत दर्द हो रहा तो कच्‍चा लहसुन पीसकर लगाने से भी आराम मिलता है ।

दिल के लिए फायदेमंद
दिल के मरीजों को रोज गार्लिक की एक कली पानी के साथ खाली पेट गटक लेनी चाहिए । लहसुन खाने से ब्‍लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है ।लहसुन का सेवन नियमित रूप से करने से हार्ट अटैक का खतरा कम होता है । लहसुन में मौजूद तत्‍व खून को गाढ़ा होने से रोकते हैं । इसे शहद के साथ खाने से धमनियों में जमा वसा निकल जाती है । लहसुन खाने की आदत बचपन से डालनी चाहिए ।

कैंसर से बचाता है लहसुन
गार्लिक की तासीर गर्म मानी जाती है इसे खाने से शरीर में ऊर्जा का प्रवाह होता है । ठंड में लहसुन का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है लहसुन खाने से कैंसर नहीं होता है । ये कैंसर सेल्‍स पर प्रतिरोधक की तरह कार्य करता है । प्रोस्‍टेट और ब्रेस्‍ट कैंसर से बचाने में सहायक होता है । नियमित रूप से लहसुन का सेवन करने से कैंसर कोशिकाओं को पनपने से रोका जा सकता है ।

पाचन में सहायक
गार्लिक खाने से आपको डायजेशन सिस्‍टम एकदम दुरुस्‍त रहता है । अगर आप इनफेक्‍शन के शिकार होते रहते हैं, पेट की परेशानी अकसर आपको सताती है तो आपको लहसुन का सेवन जरूर करना चाहिए । लहसुन खाने से सीने में जलन, पेट में दर्द और पेट खराब होने की समस्‍या ठीक हो जाती है । ये भोजन पचाने में सहायक होता है । भुना हुआ लहसुन सफर में खाने से उल्‍टी नहीं होती और जी नहीं मिचलाता ।

तनाव रहेगा दूर
लहसुन खाने से तनाव कोसों दूर रहता है । इसे खाने से टेंशन नहीं होता । शरीर में कुछ विशेष प्रकार के हार्मोन बनने से हमें घबराहट और तनाव का एहसास होता है, ऐसे समय में लहसुन खा लिया जाए तो शरीर में बन रहे इन रसायनों पर लहसुन वार करता है । इन एसिड्स को ये बनने से रोकता है । लहसुन सिर दर्द में भी फायदा करता है ।

स्‍ट्रॉन्‍ग इम्यूनिटी
लहसुन के अर्क का प्रयोग सर्दी, खांसी के लिए बनने वाली दवाओं में प्राचीन समय से किया जा रहा है । लहसुन बॉडी में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, इसे खाने से मौसूमी बीमरियों दूर रहती हैं । ये सर्दी-जुकाम से लेकर अस्‍थमा और ब्रॉन्‍काइटिस में भी राहत देता है । इन बीमारियों पर ये प्राकृतिक दवा की तरह काम करता है । सर्दियों में लहसुन का सेवन नियमित रूप से खाने में करना चाहिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *