Wed. Mar 20th, 2019

बड़ी ख़बर: घर वापसी की तैयारी में विजय बहुगुणा, दिलचस्प होगा टिहरी संसदीय सीट पर मुकाबला

प्रदीप थलवाल
देहरादूनः पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता विजय बहुगुणा जल्द कांग्रेस में घर वापसी करने वाले हैं। दस्तावेज डाॅट इन को आॅल इंडिया कांग्रेस कमेटी से मिले इनपुट से यह साफ हो गया है कि विजय बहुगुणा 16 मार्च को राहुल गांधी की मौजूदगी में घर वापसी करेंगे। आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश ने भी इस बात के संकेत दिये थे कि भाजपा का एक बड़ा नेता कांग्रेस में शामिल होने वाला है। दस्तावेज ने इंदिरा हृदयेश के बयान की पुष्टि के लिए आॅल इंडिया कांग्रेस कमेटी के दिग्गज नेताओं से संपर्क किया। जिसके बाद दस्तावेज को इनपुट मिले कि कांग्रेस से नाराज होकर भाजपा में शामिल हुए पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा कांग्रेस में शामिल होने वाले हैं।

आपको बता दें कि विजय बहुगुणा भाजपा में एक कद्दावर नेता के साथ साथ ब्राह्मण चेहरा हैं, जिसे बीजेपी किसी भी हाल में खोना नहीं चाहती। क्योंकि विजय बहुगुणा उत्तराखंड की राजनीति में सिर्फ पूर्व सीएम की हैसियत नहीं रखते हैं बल्कि वह देश के खांटी नेता हेमवती नंदन बहुगुणा के बेटे के तौर पर भी पहचान रखते हैं।
टिहरी संसदीय सीट पर भाजपा से टिकट न मिलने के आसार देख विजय बहुगुणा ने कांग्रेस में शामिल होने का मन बना दिया है। इसके लिए विजय बहुगुणा की कांग्रेस हाई कमान से लगातार बात चल रही है। विजय बहुगुणा की घर वापसी से एक बार फिर टिहरी संसदीय सीट पर कांटे का मुकाबला होना तय है।

कौन है विजय बहुगुणा

विजय बहुगुणा के बारे में कहा जाता है कि वे राजनीति से कहीं बेहतर वकील और जज के रुप में जाने जाते हैं लेकिन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह कर उन्होंने बता दिया कि उनमें राजनेता के वह सभी गुण है जो उन्हें अपने पिता से विरासत में मिले।
गौरतलब है कि विजय बहुगुणा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा के बेटे हैं और उत्तर प्रदेश में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी के भाई हैं। बताते चलें कि हेमवती नंदन बहुगुणा कभी संजय गांधी के बेहद करीबी हुआ करते थे, लेकिन हालात बदले तो उन्हें कांग्रेस से अलग होना पड़ा।
विजय बहुगुणा का जन्म 28 फरवरी, 1947 को इलाहाबाद में हुआ। उन्होंने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में बतौर वकील काम किया, बाद में उन्होंने बंबई उच्च न्यायालय में भी अपनी सेवाएं दीं। वह उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और टिहरी गढ़वाल से लोकसभा सदस्य भी रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *