Mon. Jan 21st, 2019

दिल्ली पुलिस ने केजरीवाल को नोटिस भेज पूछा-18 मई को कहां मिलेंगे

दिल्ली पुलिस ने मुख्य सचिव से मारपीट के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा है। सीआरपीसी की धारा 160 के तहत भेजे नोटिस में पुलिस ने मुख्यमंत्री से पूछा है कि 18 मई, शुक्रवार सुबह 11 बजे हमारी टीम आपसे इस मामले में पूछताछ करना चाहती है। आप यह बताएं कि हमारी टीम आपके आवास पर पहुंचे या फिर दफ्तर? आपको कहां सहूलियत होगी?

जांच टीम की अगुवाई कर रहे उत्तरी जिला पुलिस के एडिशनल डीसीपी हरेंद्र कुमार सिंह ने यह जानकारी दी। देश की राजधानी के मुख्यमंत्री से पुलिस द्वारा पूछताछ का संभवत: यह पहला मामला होगा। एडिशनल डीसीपी ने बताया कि मामले में हमारी टीम ने करीब 22 लोगों से पूछताछ कर काफी जानकारी हासिल की है। पुलिस अब घटना के बारे में मुख्यमंत्री केजरीवाल से पूछताछ कर यह जानना चाहती है, घटना वाली रात जो कुछ हुआ और जो आरोप लगे, उसे लेकर उनका पक्ष क्या है?

इन सवालों का जवाब पूछा जाएग

जांच टीम के प्रमुख हरेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि चूंकि यह बैठक मुख्यमंत्री की तरफ से बुलाई गई थी। लिहाजा पुलिस जानना चाहती थी कि उनकी मौजूदगी में ड्राइंग रूम में आयोजित इस बैठक के दौरान घटना होने पर उन्होंने क्या किया? उनकी भूमिका क्या रही? उन्होंने बदसलूकी करने वाले विधायकों से व अंशु प्रकाश से उस वक्त क्या कहा? इसके अलावा गिरफ्तार किए गए व पूछताछ के दायरे में आए विधायकों ने उन्हें लेकर जो भी बयान दिए, उसके बारे में भी मुख्यमंत्री से पूछताछ की जाएगी।

19 फरवरी की रात बुलाया था

हरेंद्र सिंह ने बताया कि मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को 19 फरवरी को देर रात एक बैठक में शामिल होने के लिए मुख्यमंत्री आवास पर बुलाया गया था। आरोप है कि इस दौरान केजरीवाल के सामने उनके विधायकों ने अंशु के साथ मारपीट की थी। मेडिकल रिपोर्ट में मुख्य सचिव से मारपीट की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।

बैठक के दौरान बहस होने पर बदसलूकी 

बैठक के दौरान ही राशन के मसले को लेकर बहस शुरू हो गई थी। आरोप है कि इस दौरान ही मुख्य सचिव की बात सुनने की बजाए, विधायकों ने उनके साथ बदसलूकी शुरू कर दी और मारपीट भी की। इसपर मुख्य सचिव किसी तरह वहां से निकल कर अपने घर चले गए थे और उन्होंने इस बारे में पुलिस से शिकायत की थी।

अबतक 11 विधायक समेत 22 से पूछताछ

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट की शिकायत के बाद पुलिस अबतक 22 लोगों से पूछताछ कर चुकी है। इसमें आम आदमी पार्टी के 11 विधायक शामिल हैं, जबकि अन्य इस मामले से जुड़े अधिकारी व कर्मी शामिल हैं। इसमें से पुलिस ने दो विधायकों को गिरफ्तार भी किया था। पुलिस ने कई आरोपियों को आमने-सामने बैठाकर भी पूछताछ की है।

जानिए क्या है पूरा मामला

दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने पुलिस को करीब तीन महीने पहले 20 फरवरी को दी शिकायत में आरोप लगाया कि उन्हें देर रात मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास पर बैठक के लिए बुलाया गया था। इस दौरान आम आदमी पार्टी विधायकों ने सरकारी विज्ञापन रिलीज करने का दबाव बनाया और उनके साथ मारपीट की। घटना के बाद मुख्य सचिव ने अगले दिन पुलिस में शिकायत दी थी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *