Thu. Jan 17th, 2019

देहरादून: सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से लोग कूड़े से हलकान, खुद संभाली सफाई की कमान

सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के चलते पूरा देहरादून शहर कूड़ा-कूड़ा हो गया है। कूड़े के ढेर और इससे उठने वाले दुर्गंध से परेशान जनता ने अब खुद ही सफाई की कमान संभाल ली है। मंगलवार को कई निवर्तमान पार्षदों की अगुवाई में लोगों ने अपने क्षेत्रों में अभियान चलाकर सफाई की और वाहनों के जरिये कूड़ा-कचरा कलेक्शन सेंटर पहुंचाया।

मोहल्ला स्वच्छता समिति से जुड़े 408 कर्मचारियों के संविदा में समायोजन की मांग के समर्थन में सफाई कर्मचारियों की हड़ताल नौवें दिन भी जारी रही। वहीं, कूड़ा नहीं उठने के कारण अब संक्रामक बीमारियां फैलने का खतरा मंडराने लगा है। शासन और प्रशासन के तमाम प्रयासों के बाद भी सफाई कर्मचारी हड़ताल से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। लिहाजा गंदगी से आजिज आकर शहरवासियों ने अब सफाई की कमान अपने हाथों में ले ली है।

मंगलवार को शहर के कई वार्डों के निवर्तमान पार्षदों और कार्यकर्ताओं ने लोगों को साथ लेकर सफाई की। ट्रक और छोटे वाहनों से कूड़ा कलेक्शन सेंटर पर पहुंचाया। इंदिरापुरम में निवर्तमान पार्षद ओमेंद्र सिंह भाटी ने कॉलोनी के लोगों के साथ साफ-सफाई की। उधर, किशननगर की निवर्तमान पार्षद नंदिनी शर्मा ने भी लोगों के साथ मिलकर स्ट्रीट नंबर-10 में सफाई की। इसके अलावा पलटन बाजार और पटेलनगर में दुकानदारों ने आसपास साफ-सफाई की।

मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में फैली गंदगी 
बृहस्पतिवार से मुस्लिमों के पवित्र माह रमजान का आगाज होगा। अकीदतमंद रोजा रख अल्लाह की इबादत में मशगूल रहेंगे। ऐसे में शहर में पसरी गंदगी के चलते उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ेगा। मुस्लिम बाहुल्य माजरा, मुस्लिम कॉलोनी, आजाद कॉलोनी, इनामुल्ला बिल्डिंग आदि इलाकों में भी सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के चलते कूड़े के ढेर लगे हैं। शहर काजी मो. अहमद कासमी, शहर मुफ्ती सलीम अहमद कासमी, मुफ्ती रईस अहमद कासमी, मौलाना ताहिर हुसैन कारी, एहसान हाफिज शाह नजर, अब्दुल सत्तार, इरफान, दानिश कुरैशी, फारुक शादाब आदि ने मुख्य रूप से मस्जिदों, मदरसों और मुस्लिम इलाकों में सफाई व्यवस्था दुरुस्त कराने की मांग की है, ताकि रमजान में रोजेदारों और नमाजियों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

समर्थन में विभिन्न संगठनों ने फूंका सरकार का पुतला
सफाई कर्मचारियों के हड़ताल के समर्थन में मंगलवार को जनसभा पार्टी, उत्तराखंड वाल्मीकि महासभा, भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज समेत तमाम संगठनों ने लैंसडौन चौक पर प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। उन्होंने सफाई कर्मियों की मांगें पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी नगर निगम परिसर में एकत्र हुए। यहां से जुलूस की शक्ल में लैंसडौन चौक पहुंचे और सरकार का पुतला फूंका। इस दौरान सुनील, रवि, प्रकाश, पप्पू समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

सफाई कर्मचारियों की हड़ताल जारी 
उधर, मांग के समर्थन में सफाई कर्मचारियों की हड़ताल मंगलवार को भी जारी रही। सफाई कर्मचारी यूनियन संघ के अध्यक्ष राजेश कुमार और महामंत्री धीरज भारती ने कहा कि शासन उनकी मांगों की अनदेखी कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि निवर्तमान मेयर विनोद चमोली और अधिकारियों की लापरवाही के चलते उन्हें संविदा में समायोजित नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि जब तक मांग पूरी नहीं होती सफाई कर्मचारियों का आंदोलन जारी रहेगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *