Home > उत्तर प्रदेश > देश के सर्वोच्च पदों पर बैठे लोगों की पहचान जाति के आधार पर नहीं होनी चाहिए-डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा%!%!%!%!%!%!%!%!

देश के सर्वोच्च पदों पर बैठे लोगों की पहचान जाति के आधार पर नहीं होनी चाहिए-डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा%!%!%!%!%!%!%!%!

डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि देश के सर्वोच्च पदों पर बैठे लोगों की पहचान जाति के आधार पर नहीं होनी चाहिए। भाजपा के कारण ही देश के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति पिछड़े व दलित वर्ग से हैं। उन्होंने कहा कि अब इन वर्गों का कोई अहित नहीं कर सकता।

 डिप्टी सीएम ने कहा कि भाजपा ने हमेशा दलितों, पिछड़ों को सम्मान दिया है। भाजपा द्वारा दलित व पिछड़े वर्ग को सर्वोच्च प्राथमिकता देने से विपक्षी दल बौखलाए हुए हैं। दलित आंदोलन के हिंसक होने पर उन्होंने कहा, इतिहास उठाकर देख लीजिए, दलित समाज हिंसा में विश्वास नहीं रखता।

उन्हें विरोधियों ने उकसाया लेकिन वे अपने मकसद में सफल नहीं हो पाएंगे। दलित समाज के लोग जानते हैं कि भाजपा ही ऐसी पार्टी है जो उनकी चिंता करती है। कहा, मैं किसी को हिंसा के लिए जिम्मेदार नहीं ठहरा रहा हूं लेकिन जिस तरह हिंसा हुई, उससे संदेह पैदा हुआ है।

पुलिस की जांच में सब कुछ सामने आ जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने बाबा साहब आंबेडकर को सम्मान नहीं दिया। जबकि भाजपा सरकार में उन्हें भारत रत्न दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *