Mon. Dec 10th, 2018

स्टार फुटबॉलर के बड़े बोल, कहा- मेरे बिना फीफा विश्व कप बिलकुल फीका

स्वीडन राष्ट्रीय टीम से 2016 में संन्यास ले चुके स्टार फॉरवर्ड ज्लाटन इब्राहिमोविच ने स्वीकार किया कि उन्हें फीफा विश्व कप में नहीं खेलने की कमी खलेगी। रूस में 14 जून से फीफा का महाकुंभ शुरू होने जा रहा है। हालांकि, इसके साथ ही इब्राहिमोविच ने कहा कि उनके बिना फीफा विश्व कप बिलकुल फीका है और इसे देखने का कोई फायदा नहीं। 2001 से 2006 के बीच 116 मैच खेलने वाले इब्राहिमोविच ने कहा कि फैंस के लिए फीफा विश्व कप मेरे बिना देखने में कोई मजा नहीं आएगा।

ला गैलेक्सी के खिलाड़ी ने फीफा डॉट कॉम से बातचीत में कहा, ‘यह साफ है कि मैं इस साल राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहा हूं, लेकिन जैसा मैंने चार साल पहले कहा था, फिर दोहराता हूं, मेरे बिना फीफा विश्व कप देखने का कोई मतलब नहीं। मेरी यह बात बहुत मायने रखती है।’

अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए 62 गोल दागने वाले इब्राहिमोविच ने साथ ही कहा कि स्वीडन ने बड़ी टीमों को मात देकर टूर्नामेंट में प्रवेश किया है और इस वजह से उनसे काफी उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा, ‘वर्ल्ड कप में पहुंचने के लिए स्वीडन ने कई बड़ी टीमों को मात दी है। हर चीज उत्सुक और नई है। आप नहीं जानते कि कभी भी क्या हो जाए। यह सब पल पर निर्भर करता है। जो भी उस पल सर्वश्रेष्ठ है वह बेहतर प्रदर्शन करेगा।’

अपनी विश्व कप की यादों को ताजा करते हुए मैनचेस्टर यूनाइटेड के पूर्व स्ट्राइकर ने कहा, ‘मुझे याद है कि अमेरिका में 1994 में स्वीडन तीसरे नंबर पर रहा था। यह स्वीडन के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि थी।’ इब्राहिमोविच ने 11 मौकों पर स्वीडिश फॉरवर्ड ऑफ द ईयर और 2002 में स्वीडिश पर्सानीलिटी ऑफ द ईयर का अवॉर्ड जीता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *