Home > उत्तर प्रदेश > 15 साल का बेटा निकला मां और बहन का कातिल, ग्रेटर नोएडा के गौर सिटी में हुई थी हत्या

15 साल का बेटा निकला मां और बहन का कातिल, ग्रेटर नोएडा के गौर सिटी में हुई थी हत्या

नोएडाः पिछले दिनों ग्रेटर नोएडा में मां बेटी की हत्या के बाद फरार फैमिली का नाबालिग लड़का पुलिस की हिरासत में है। आज इस हत्या की गुत्थी से पर्दा उठ सकता है। पुलिस ने नाबालिग लड़के को बनारस से पकड़ा है। वहीं सूत्रों का कहना है कि लड़के ने अपना मां और बहन की हत्या की बात कबूल कर ली है। आज पुलिस उसे अदालत में पेश करेगी, जहां पर अदालत के आदेश के बाद ही उसपर बनती कार्यवाई की जाएगी।

क्राइम फाइटर गेम के चक्कर में हुआ मर्डर

पुलिस के मुताबिक, डबल मर्डर के आरोपी लड़के ने शुरुआती पूछताछ में क्राइम फाइटर गेम को वारदात की वजह बताया है। उसने बैट से पीटकर दोनों की हत्या की थी। दो दिन तक बेटे के लापता रहने पर परिवार ने उससे घर लौटने की अपील की थी। लड़के के पिता और दादा ने कहा था कि वह अपनी मां और बहन की हत्या नहीं कर सकता। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस अपील के बाद शुक्रवार को आरोपी नाबालिग ने किसी अनजान नंबर से पिता को फोन किया। इसकी लोकेशन के आधार पर उसे बनारस के दशाश्वमेघ घाट से पकड़ा गया।

यहां के गौर सिटी-2 के फ्लैट नंबर 1446 में मंगलवार रात को अंजलि अग्रवाल (42 साल) और बेटी मणिकर्णिका (9 साल) की बॉडी खून से लथपथ मिली थीं। पास ही खून से सना एक बैट पड़ा था। इसके बाद से घर का 15 साल का बेटा गायब था।पुलिस के मुताबिक, सीसीटीवी फुटेज में सोमवार रात 8 बजे आरोपी लड़का मां और बहन के साथ फ्लैट में जाता दिखा था। इसके बाद आखिरी बार रात 11.30 बजे उसे अकेले फ्लैट से बाहर आता देखा गया।जब ये वारदात हुई तो घर में कुल तीन लोग थे। मां, बेटी और बेटा. मगर दरवाज़ा खुला तो लाश सिर्फ मां और बेटी की मिली बेटा गायब था।

दोनों लाशों के पास ही एक बैट पड़ा हुआ मिला था, जिस पर खून के निशान थे। पुलिस को मौके से एक धारदार हथियार भी मिला था। मगर नहीं मिला तो 15 साल का बेटा। तब तक तो ऐसा ही लग रहा था कि जैसे किसी ने मां-बेटी की हत्या की और बेटे को किडनैप कर लिया है।

दरअसल वो फ्लैट अग्रवाल फैमिली का है। जिनका टाइल्स का कारोबार है। 4 तारीख की शाम से परिवार के लोग घर मे मौजूद मां और बच्चों से संपर्क करने की कोशिश कर रहे थे लेकिन जब कई घंटों तक कोई संपर्क नही हुआ तब उन्होंने घर के पास रह रहे रिश्तेरदारों से संपर्क साधा।

जब रिश्तेदार घर पहुंचे। तब फ्लैट बाहर से बंद था और न्यूज़पेपर बाहर पड़ा था। उन्होंने खिड़की तोड़ कर अंदर झांका तो उन्हें मां अंजली और बेटी की लाश नजर आई, जिसके पास पुलिस को सूचना दी गई थी। लड़के के मामा ने भी मीडिया से बातचीत के दौरान अपील की कि इस तरह के मोबाइल गेम बंद होने चाहिए, जिससे किसी की जान चली जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *