Home > उत्तराखंड > 17 साल की जद्दोजहद के बाद आखिरकार हरिद्वार के होटल अलकनंदा पर उत्तराखंड का हकSite Preview has beeb Completed

17 साल की जद्दोजहद के बाद आखिरकार हरिद्वार के होटल अलकनंदा पर उत्तराखंड का हकSite Preview has beeb Completed

17 साल की जद्दोजहद के बाद आखिरकार हरिद्वार के होटल अलकनंदा पर उत्तराखंड का हक होगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हरिद्वार का अलकनंदा होटल उत्तराखंड को मिल गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को इसके लिए न्यायालय में सहमति दे दी है। अब अलकनंदा होटल उत्तराखंड सरकार के अधीन ही संचालित होगा। मुख्यमंत्री सोमवार को यमकेश्वर के थलनदी गेंद मेले में उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने ऋषिकेश में स्वर्गाश्रम स्थित परमार्थ निकेतन आश्रम में आयोजित किल वेस्ट मशीन का शुभारंभ किया।  पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार से हरिद्वार में अलकनंदा होटल पर हक को लेकर राज्य सरकार का काफी समय से चला आ रहा गतिरोध खत्म हो गया है। परिवहन निगम से जुड़े एमओयू को लेकर भी उत्तर प्रदेश सरकार ने सहमति दे दी है। परिसंपत्तियों के अन्य लंबित मामलों का निस्तारण भी जल्द होने की उम्मीद है।

थलनदी में सीएम ने कहा कि जब से यूपी और उत्तराखंड में भाजपा की सरकार बनी है, तब से यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक कर 17 वर्षों से लंबित और विवादों में घिरी संपत्तियों पर निर्णय लिए गए हैं। कई दिनों की वार्ता के बाद यूपी सरकार ने हरिद्वार का अलकनंदा होटल भी सोमवार को उत्तराखंड सरकार को सौंप दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *