Thu. Feb 21st, 2019

भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास ‘सूर्य किरण 13’ का हुआ समापन

भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास (सूर्य किरण 13) के समापन के मौके पर मुख्य अतिथि उत्तर भारत एरिया के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल नीरज वर्मा ने कहा कि इससे एक-दूसरे को लेकर समझ बढ़ी है। युद्धाभ्यास के समापन पर वर्मा ने परेड की सलामी ली।

मंगलवार को 14 दिवसीय युद्धाभ्यास के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए मेजर जनरल वर्मा ने कहा कि दोनों देशों के बीच चले युद्धाभ्यास में जवानों ने अपने हुनर को साझा किया है। उन्होंने कहा कि यह युद्धाभ्यास दोनों देशों के लिए आतंकी और आपदा की घटनाओं से निपटने में मील का पत्थर साबित होगा। नेपाल सेना के मिड वेस्टर्न डिवीजन के डिवीजनल कमांडर मेजर जनरल राजेंद्र कार्की ने कहा कि संयुक्त युद्धाभ्यास के बाद दोनों देशों के संबंध मजबूत होंगे। उन्होंने कहा कि युद्धाभ्यास के बाद दोनों देशों के जवानों ने युद्ध की कई नई जानकारियां हासिल की हैं।

अंतिम दिन छिपे आतंकियों को मारने का अभ्यास
दोनों देशों के जवानों नेयुद्धाभ्यास के अंतिम दिन खोज ऑपरेशन चलाकर एक गांव में छिपे आतंकवादियों को मार गिराने का सफल अभ्यास किया। इस दौरान दोनों देशों के जवानों का समन्वय काफी अच्छा रहा।

खेल क्षमता का भी प्रदर्शन
युद्धाभ्यास के दौरान दोनों देशों के जवानों ने अपनी खेल क्षमता का भी प्रदर्शन किया। दोनों देशों के बीच हुई फुटबॉल, बास्केटबॉल और वालीबॉल प्रतियोगिताओं में जवानों ने शानदार प्रदर्शन किया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में झूमे सैनिक
युद्धाभ्यास के समापन कार्यक्रम से पहले दोनों देशों के जवानों की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। इस दौरान सांस्कृतिक आयोजन में दोनों देशों के सैनिक झूमते नजर आए। सांस्कृतिक कार्यक्रम का वहां मौजूद लोगों ने भी लुत्फ उठाया। इस कार्यक्रम में लोगों को दोनों की संस्कृति की झलक देखने को मिली।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *