जानिए, यूपी के 4000 लेखपाल के पदों पर कब होगी भर्ती

लेखपाल भर्ती को लेकर पेंच फंस गया है। भर्ती राजस्व परिषद करेगा या फिर उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग इसको लेकर असमंजस की स्थिति है। राजस्व विभाग जल्द ही मुख्यमंत्री को इस संबंध में प्रस्ताव भेजने वाला है। लेखपाल के करीब 4000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया लटकी हुई है।

आयोग को देने का विचार था
राजस्व परिषद में करीब 4000 लेखपाल के पद खाली हैं। समाजवादी सरकार में लेखपालों की भर्ती राजस्व परिषद ने की थी। प्रदेश में सत्ता बदलने के बाद शासन स्तर पर विचार-विमर्श के बाद यह तय हुआ कि लेखपालों की भर्ती का अधिकार उत्तर प्रदेश अधनीस्थ सेवा चयन आयोग को दे दिया जाए। इसको लेकर तैयारियां भी शुरू हो गईं। राजस्व विभाग ने इस संबंध में मुख्यमंत्री के पास प्रस्ताव भेजा था, लेकिन कुछ कमियों के चलते इसे वापस कर दिया गया। सूत्रों का कहना है कि इसके बाद से भर्ती को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पा रही है कि राजस्व परिषद करेगा या फिर अधीनस्थ सेवा चयन आयोग। राजस्व विभाग अब इस पर मुख्यमंत्री से प्रस्ताव भेजकर सहमति लेगा।

कंप्यूटर की जानकारी जरूरी
लेखपाल भर्ती के लिए कंप्यूटर का ज्ञान होना जरूरी कर दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि राजस्व विभाग का मानना है कि खसरा-खतौनी ऑनलाइन कर दी गई है। इसीलिए लेखपाल भर्ती के लिए कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए। लेखपाल भर्ती के लिए अब उसे ही पात्र माना जाएगा जिसे कंप्यूटर का ज्ञान होगा। अभी यह तय किया जाना बाकी है कि भर्ती के लिए कंप्यूटर का प्रमाण पत्र किस स्तर का चाहिए। इस पर उच्चाधिकारियों से राय मांगी गई है। राजस्व विभाग का मानना है कि नए लेखपाल भर्ती में कंप्यूटर की अनिवार्यता होने के बाद ऑनलाइन काम को बढ़ावा मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *