Home > उत्तराखंड > पलायन रोकने में मद्दगार उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति के प्रोग्राम: सुबोध%!%!%!%!%!%!%!%!

पलायन रोकने में मद्दगार उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति के प्रोग्राम: सुबोध%!%!%!%!%!%!%!%!

देहरादून।  उत्तराखंड सरकार में कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे छात्र-छात्राओं से मुलाकात की। इस दौरान कृषि मंत्री ने छात्र-छात्राओं से दिए जा रहे शिक्षण-प्रशिक्षण की बावत कई प्रश्न भी पूछे। जिनका छात्रों ने सकारात्मक उत्तर दिया।
कृषि मंत्री सुबोध उनियाल उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे छात्र-छात्राओं से मिलने फ्यूजन इंस्टीटयूट आॅफ होटल मैनेजमैंट संस्थान पहुंचे। छात्र-छात्राओं ने उत्तराखंडी रिति रिवाज से उनका जोरद्वार स्वागत किया। इस दौरान कृषि मंत्री ने राज्य के विभिन्न जनपद से आये छात्र-छात्राओं से मुलाकात कर समिति द्वारा दिए जा रहे प्रशिक्षण की बावत जानकारी प्राप्त की। कृर्षि मंत्री ने छात्रों से उनकी भविष्य की योजनाओं को लेकर भी बातचीत की। कृषि मंत्री ने कहा कि हाॅस्पिलिटी व होटल मैनेजमैंट के क्षेत्र में रोजगार और स्वरोजगार की अपार संभावनाएं हैं। हाॅस्पिलिटी व होटल मैनेजमैंट का क्षेत्र पिछले कुछ वर्षों में एक बड़े स्वरूप में आया है। बड़ी संख्या में युवा इससे जुड़कर अपना भविष्य संवार रहें हैं।
इसके साथ ही कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने छात्रों को राज्य सरकार और केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न रोजगार परख योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। कृषि मंत्री ने छात्रों से कहा कि युवाओं के उज्जव भविष्य को लेकर केन्द्र की मोदी सरकार और राज्य सरकार ने कई योजनाएं चलाई हुई है। जिसका लाभ युवा उठा सकते हैं। उन्होंने स्टार्ट अप योजना, स्किल डेप्लमेंट योजना, के बारे में भी छात्रों से जानकारी साझा की। कृषि मंत्री ने कहा कि आप सभी छात्र देश का भविष्य हैं और आपको रोजगार परख योजनाओं की जानकारी होनी चाहिए ताकि आप अपने साथी या किसी जरूरत मंद युवा को यह जानकारी दें सके और वह भी आपकी तरह कुशल प्रशिक्षण प्राप्त कर अपना भविष्य संवार सके।
कृषि मंत्री ने छात्रों से कहा कि बड़ी संख्या में युवा अपने राज्य में लौटकर इन योजनाओं से जुड़कर बेहत्तर काम कर रहे हैं। उन्होंने युवाओं से आह्नवान करते हुए कहा कि सरकार आपके साथ है। अपने प्रदेश में रहकर भी आप अपने सपनों को साकार कर सकते हैं। युवाओं ने कृषि मंत्री को भरोसा दिलाया कि शिक्षण-प्रशिक्षण समाप्त होने के बाद वह अपने कार्यक्षेत्र के रूप में उत्तराखंड को ही प्राथमिकता देंगे।
कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति के तहत प्रशिक्षण दे रहे फ्यूजन इंस्टीटयूट आॅफ होटल मैनेजमैंट संस्थान के निदेशक अरूण चमोली और आशीष नौटियाल से संस्थान द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न रोजगार परख कोर्सों के बारे में जानकारी ली। साथ ही प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे छात्रों के शिक्षण-प्रशिक्षण लेकर खाने और रहने की सुविधा के साथ ही कोर्स पूर्ण होने पर स्वरोजगार या नौकरी को लेकर विस्तार से जानकारी प्राप्त की।
मीडिया से औपचारिक बातचीत में कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति द्वारा चलाये जा रहे तमाम प्रशिक्षण कार्यक्रम रोजगार परख होने के साथ-साथ आने वाले दिनों में पलायन रोकने में भी मद्दगार साबित होंगे। उत्तराखंड ग्राम्य विकास समिति प्रदेश के सभी जनपदों के गांव-गांव में जाकर युवाओं के साथ ही अन्य महिला-पुरूषों को निशुल्क मधुमक्खी पालन, मशरूम, बागवानी, सिलाई, कढ़ाई का प्रशिक्षण दे रही है। समिति के इस प्रोग्राम के जरिए न सिर्फ लोग स्वरोजगार की ओर प्रेरित हो रहें हैं बल्कि गांव में रहकर ही अपनी आर्थिकी को भी मजबूत कर रहे हैं। आने वाले समय में यह प्रोग्राम ग्रामीण क्षेत्रों के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *