Mon. Jan 21st, 2019

सिंधू- श्रीकांत ने बैडमिंटन को बनाया देश का नंबर एक खेल

ओलिंपिक और विश्व चैम्पियशिप की रजत पदक विजेता पी वी सिंधू और किदांबी श्रीकांत ने अपनी शानदार कामयाबियों से बैडमिंटन को 2017 में देश का नंबर एक खेल बना दिया। बैडमिंटन पूरे साल चर्चा में बना रहा और इस बात का पूरा श्रेय जाता है सिंधू और श्रीकांत को जिन्होंने पूरे साल विश्व बैडमिंटन में तिरंगा बुलंद रखा। सिंधू और श्रीकांत इस साल विश्व रैंकिंग में नंबर दो पर भी पहुंचे। सिंधू और श्रीकांत को मुंबई में पहले इंडियन स्पोर्ट्स ऑनर्स में साल के सर्वश्रेष्ठ महिला एवं पुरुष खिलाड़ी का पुरस्कार मिला। श्रीकांत को ओलिंपिक खेल वर्ग में गो स्पोर्ट्स एथलीट ऑफ द ईयर का अवार्ड भी मिला।  सिंधू और श्रीकांत साल के आखिरी दुबई वर्ल्ड सुपर सीरीज फाइनल्स में खेले जो शीर्ष रैंकिंग के 8 खिलाडियों का टूर्नामेंट होता है।

इस टूर्नामेंट में हालांकि श्रीकांत अपने तीनों ग्रुप मैच हार गए लेकिन सिंधू ने फाइनल में पहुंच सायना नेहवाल के 2011 में फाइनल में पहुंचने के प्रदर्शन की बराबरी की। सिंधू को फाइनल में जापान अकाने यामागूची से तीन गेमों में हार का सामना करना पड़ा जिन्हें उन्होंने ग्रुप मैच में लगातार गेमों में हराया था।

सिंधू ने वर्ल्ड सुपर सीरीज के रजत पदक के अलावा विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर सायना की बराबरी की। इससे पहले उन्होंने गत वर्ष रियो ओलिंपिक में भी रजत पदक जीता था। सिंधू ने सैयद मोदी, इंडिया ओपन और कोरिया ओपन के भी खिताब जीते। वह कोरिया ओपन जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनी। सिंधू को विश्व बैडमिंटन महासंघ के एथलीट आयोग में भी चुना गया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *