Home > उत्तराखंड > उत्तराखंड में आईजी दीपम सेठ के बेटे ने मारी बाजी, 98% अंक लाकर बढ़ाया मान

उत्तराखंड में आईजी दीपम सेठ के बेटे ने मारी बाजी, 98% अंक लाकर बढ़ाया मान

CISCE results 2018 में उत्तराखंड के आईजी (पुलिस महानिरीक्षक कानून व्यवस्था) दीपम सेठ के बेटे ने 10वीं में बेहतर अंक लाकर बाजी मारी है। वरिष्ठ पुलिस अफसर के बेटे ने हाईस्कूल में 98 प्रतिशत लाकर ब्राइटलैंड में तीसरा स्थान हासिल किया है। इससे परिवार में खुशी का माहौल है। बेटे के अच्छे प्रदर्शन में परिवार के सदस्यों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी जतायी।

आईसीएसई यानी हाईस्कूल के रिजल्ट में इस बार भी देहरादून के छात्र व छात्राओं का बेहतर प्रदर्शन रहा। ऐसे ही उत्तराखंड में आईजी कानून व्यवस्था के बेटे आर्यमान मिहिर सेठ 10वीं में ब्राइटलैंड स्कूल में टॉप थ्री में आए हैं। कम्प्यू्टर में उनके 100 में से 100 नंबर है। जबकि हिंदी, गणित, सामाजिक विज्ञापन व विज्ञान में सौ में से 99 नंबर आए हैं। वहीं अंग्रेजी में 93 नंबर हैं। उनके बेहतर प्रदर्शन से आईजी कानून व्यवस्था दीपम सेठ व परिवार के अन्य सदस्य काफी खुश हैं। आर्यमान मिहिर सेठ का मकसद आगे जाकर आईआईटी से इंजीनियिरंग करना है।

आर्यमान मिहिर सेठ के बड़े भाई शुभांकर 2016 में ब्राइटलैंड से ही इंटर में 98 प्रतिशत अंक लाए थे।  शुभांकर मौजूदा समय में मुबंई आईआईटी से मैकेनिकल इंजीनियिरंग कर रहे हैं। आर्यमान मिहिर सेठ का कहना है कि वह भी आगे जाकर आईआईटी से इंजीनियर करना चाहते हैं। उनके बड़े भाई ने उनका काफी स्पोर्ट किया। वहीं आईजी कानून व्यवस्था दीपम सेठ का कहना है कि मैं जब भी ड्यूटी से घर आता था तो बेटे आर्यमान से पढ़ाई के बारे में जरूर पूछता था। आर्यमान स्कूल में हर वाद  विवाद प्रतियोगिता में भाग लेता रहा है।

आर्यमान ने जूनियर नेशनल ताइक्वांडो प्रतियोगता में दो मेडल भी हासिल किए हैं। आर्यमान ने Taekwondo में रेड बेल्ट और National लेवल पदक विजेता जीते हैं। वे स्टेट लेवल क्विज और डिबेट में विजेता में भी आगे हरते हैं। संगीत और फिल्मों में उनकी काफी रुचि है। वे आगे चलकर Astrophysics में research करना चाहते हैं। आईजी दीपम सेठ के बड़े भाई शुभांकर सेठ ने वर्ष 2014 में All India Rank 2 के साथ ICSE बोर्ड टॉप किया था। वर्तमान में IIT मुंबई में पढ़ाई कर कर रहे हैं। मां Dr. Gauri Seth वर्तमान में IMS यूनिसन यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र की प्रोफेसर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *