Mon. Dec 10th, 2018

बंगले में तोड़फोड़ पर राज्यपाल ने सीएम योगी को लिखा पत्र, कहा- अखिलेश के खिलाफ कार्रवाई करें

यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा 4 विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगला छोड़ने से पूर्व उसमें की गई तोड़फोड़ को गंभीर मामला बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मामले में कार्रवाई की मांग की है।

राज्यपाल ने इसे एक गंभीर मुद्दा बताते हुए खुद ही मामले का संज्ञान लिया और राज्य संपत्ति विभाग के अफसरों को बुलाकर जानकारी ली। मुख्यमंत्री योगी को भेजे गए पत्र में उन्होंने लिखा कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को 4 विक्रमादित्य मार्ग पर आवंटित आवास को खाली किये जाने से पूर्व उसमें की गई तोड़फोड़ तथा उसे क्षतिग्रस्त किये जाने का मामला मीडिया तथा जनमानस में चर्चा का विषय बना हुआ है। यह एक नितान्त अनुचित व गम्भीर मामला है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवंटित किये गये शासकीय आवास राज्य सम्पत्ति के कोटे में आते हैं, जिनका निर्माण व रख-रखाव सामान्य नागरिकों द्वारा दिये जाने वाले विभिन्न प्रकार के करों से होता है। उन्होंने कहा कि राज्य सम्पत्ति को क्षति पहुंचाये जाने के विरूद्ध राज्य सरकार द्वारा विधि अनुसार समुचित कार्यवाही की जाये।

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने 3 जून को बंगला खाली कर दिया था और 9 जून को इसकी चाभियां राज्य सम्पत्ति विभाग को सौंप दी। विभाग की टीम जब बंगले के अंदर गई तो वहां का हाल देखकर दंग रह गई। बंगले में टाइल्स उखाड़ने से लेकर एसी स्विच तक निकाल लिए गए थे। कई जगहों पर पानी की टोटी तक को निकाल लिया गया।

बंगले की तस्वीरें मीडिया में आने पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की निंदा हुई। सत्ता पक्ष के नेताओं ने उन पर राज्य सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया, जिस पर सपा ने इसे सत्ता पक्ष द्वारा अखिलेश यादव की छवि खराब करने की कोशिश करार दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *