Home > उत्तर प्रदेश > उत्तर प्रदेश सरकार नहीं चाहती अपने यहाँ ‘पद्मावती’ की रिलीज

उत्तर प्रदेश सरकार नहीं चाहती अपने यहाँ ‘पद्मावती’ की रिलीज

देशभर में भीषण विरोध झेल रही संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की राह में एक और बड़ी मुश्किल खड़ी नजर आ रही है। राजस्थान का राजपुतानियों और करणी सेना के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी शांति व्यवस्था बिगड़ने का हवाला देकर 1 दिसंबर को फिल्म रिलीज न करने की मांग की है।

पद्मावती फिल्म के विरोध को देखते हुए उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मिनिस्ट्री को लेटर लिख कर कहा है कि इस फिल्म में ऐतिहासिक सबूतों को तोड़-मरोड़कर पेश किए जाने की वजह से शांति-व्यवस्था पर उलटा असर होने की आशंका है। उत्तर प्रदेश के होम डिपार्टमेंट ने आईबी मिनिस्ट्री को लिखे लेटर में बताया है कि पद्मावती फिल्म की स्क्रिप्ट और इसमें ऐतिहासिक सबूतों को तोड़-मरोड़ कर पेश करने को लेकर लोगों में गुस्सा है। इसकी रिलीज से शांति-व्यवस्था पर गलत असर पड़ सकता है। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से आईबी मिनिस्ट्री को लिखे गए लेटर के सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने कहा हमारे यहां नगरीय निकाय के चुनाव चल रहे हैं। फोर्स उसकी सुरक्षा में होगी। चुनाव पर इसका कोई असर न हो ऐसे में जरूरी है कि फोर्स उस पर ध्यान दे। कोई भी ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर अपना हित साधे यह नहीं होना चाहिए। हम फिल्म के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन राज्य की कानून-व्यवस्था पर असर डालने वाले काम को हमारी सरकार रोकने का काम करेगी।
उधर, मुंबई पुलिस ने डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के ऑफिस और घर की सिक्युरिटी में पुलिस बल तैनात कर दी है। भंसाली के साथ भी आर्म्ड गार्ड तैनात किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *