Home > उत्तराखंड > देहरादून में तड़के तूफान की दस्तक, उत्तराखंड के आठ जिलों में स्कूल बंद

देहरादून में तड़के तूफान की दस्तक, उत्तराखंड के आठ जिलों में स्कूल बंद

मौसम विभाग की तूफान को लेकर जारी चेतावनी सही साबित होती नजर आ रही। देर रात देहरादून में आंधी-तूफान और बिजली कड़कने के साथ तेज बारिश हुई। इसको देखते हुए पूरे शहर की बिजली काट दी गई। तेज हवाओं से कई जगह पेड़ और होर्डिंग्स गिरे हैं।

मुख्यमंत्री आवास रोड पर पेड़ गिरने से यातायात बाधित हो गया। शहर में जगह-जगह एसडीआरएफ की टीमें राहत कार्य में जुटी हुई हैं। देहरादून के गोविंदगढ़ इलाके में भी आंधी से नुकसान पहुंचा है। बिजली की लाइनें टूट गयी हैं। इससे पहले मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए सरकार ने सभी डीएम को आपदा प्रबंध तंत्र को हाईअलर्ट पर रखने को कहा। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की चेतावनी में कहा गया है कि सभी जिलों में आपदा प्रबंधन तंत्र को किसी भी घटना से निपटने के लिए हाईअलर्ट पर रखा जाए।

चमोली में तूफान से दो यात्री घायल 

सोमवार को आंधी से गोपेश्वर, चमोली और पीपलकोटी क्षेत्र में खासा नुकसान हुआ है। क्षेत्रपाल में पेड़ टूटने से हाईटेंशन लाइन का तार टूट गया। यहां पेड़ के नीचे खाना बना रहीं गुजरात की दो महिला तीर्थयात्री घायल हो गईं। पीपलकोटी के पास पेड़ गिर जाने से बदरीनाथ हाइवे बंद एक घंटेे तक बंद रहा। पेड़ हटाने के बाद यातायात सुचारु किया गया। गोपेश्वर में एक एटीएम वाले कमरे और फास्टफूड सेंटर की छत उखड़ गई। देवाल क्षेत्र में भी तेज बारिश और हवाओं से कई पेड़ उखड़ गए।

सात जिलों में स्कूलों में छुट्टी 

तूफान की चेतावनी को देखते हुए देहरादून, उत्तरकाशी, हरिद्वार, चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी, बागेश्वर और अल्मोड़ा के डीएम ने 8 मई को 12वीं तक के स्कूल बंद करने के आदेश दिए हैं। मौसम विभाग ने ओलावृष्टि और आंधी की चेतावनी जारी कर कहा है कि इस दौरान 70 से 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। पाकिस्तान से आने वाली तेज हवायें आंधी का कारण बन सकती हैं।

जोशीमठ में लाउडस्पीकर से लोगों को चेताया 

मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए जोशीमठ में एसडीएम योगेन्द्र सिंह के निर्देश पर यात्रियों को लाउडसपीकरों के माध्यम से आवश्यक निर्देश देने शुरू कर दिए गए हैं। एसडीएम ने बताया कि जोशीमठ, बदरीनाथ और गोविन्दघाट में कन्ट्रोल रूम, बदरीनाथ और पांडुकेश्वर में तैनात एसडीआरएफ को तत्पर रहने को कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *