Home > उत्तर प्रदेश > गुजरात के लोगों को गुमराह कर रहे हैं योगी – अखिलेश यादव

गुजरात के लोगों को गुमराह कर रहे हैं योगी – अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि अखिलेश यादव गुजरात विधानसभा चुनावों में सपा के उम्मीदवारों के लिए प्रचार करेंगे। उन्होंने बताया- “समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुजरात में हो रहे विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में 4 दिन चुनावी सभाएं करेंगे।”

अखिलेश यादव 4 से 7 दिसम्बर, 2017 तक गुजरात में रहेंगे। गुजरात में 5 विधानसभा क्षेत्रों में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। उनकी पहली चुनावी सभा 4 दिसम्बर, 2017 को जामनगर में होगी।उन्होंने बताया- “राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि वे भाजपा की सांप्रदायिक और विघटनकारी राजनीति के विरूद्ध धर्म निरपेक्ष और लोकतांत्रिक ताकतों को बल देने के लिए गुजरात की जनता का आवह्न करेंगे। अखिलेश यादव गुजरात की जनता से संवाद में भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकारों की जनविरोधी नीतियों का पर्दाफाश करेंगे और बताएंगे कि भाजपा किसान, नौजवान, अल्पसंख्यक और विकास विरोधी है। इसने उत्तर प्रदेश में समाजवादी सरकार की सभी जनहित की योजनाओं को बंद कर दिया है।”

राजेन्द्र चौधरी ने कहा- “भाजपा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गुजरात में अपना स्टार प्रचारक बनाया है। योगीजी उत्तर प्रदेश का काम-काज छोड़कर जनता को गुमराह करने गुजरात पहुंच गए हैं। अखिलेश यादव गुजरात की जनता को बताएंगे कि उत्तर प्रदेश में भाजपा ने जनता से किए गए चुनावी वादों में एक भी वादा पूरा नहीं किया है।”भाजपा सरकार समाजवादी सरकार की योजनाओं को ही अपनी बता रही है लेकिन जनता सब जानती है। भाजपा नेताओं की लाख कोशिशों के बाद भी भाजपा के वादों और नारों से वह भ्रमित होने वाली नहीं है।

अखिलेश यादव ने कहा- “गुजराज की जनता को इस बात से भी सतर्क रहना होगा कि भाजपा समाजवादी पार्टी पर तो परिवार वाद का झूठा आरोप लगाती है लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति की बेटी के स्वागत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हाथ बांधे पलकपांवड़े बिछाते दिखाई देते हैं। यह विरोधाभास की अजीब स्थिति है।”
समाजवादी पार्टी का मानना है कि बिना लोकतंत्र, सामाजिक सद्भाव और समाजवादी व्यवस्था को सशक्त किए भारत का भला होने वाला नहीं है। भाजपा की नीतियां सामाजिक ताना-बाना को छिन्न विच्छिन्न करने वाली और राष्ट्रीय,संघीय ढांचे को कमजोर करने वाली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *